प्राण शर्मा

pran_sharma roundग़ज़लकार, कहानीकार और समीक्षक प्राण शर्मा की संक्षिप्त परिचय:

जन्म स्थान: वजीराबाद (पाकिस्तान)
जन्म: १३ जून १९३७

निवास स्थान: कवेंट्री, यू.के.
शिक्षा: प्राथमिक शिक्षा दिल्ली में हुई, पंजाब विश्वविद्यालय से एम. ए., बी.एड.
कार्यक्षेत्र : छोटी आयु से ही लेखन कार्य आरम्भ कर दिया था. मुंबई में फिल्मी दुनिया का भी तजुर्बा कर चुके हैं. १९५५ से उच्चकोटि की ग़ज़ल और कवितायेँ लिखते रहे हैं.
प्राण शर्मा जी १९६५ से यू.के. में प्रवास कर रहे हैं। वे यू.के. के लोकप्रिय शायर और लेखक है। यू.के. से निकलने वाली हिन्दी की एकमात्र पत्रिका ‘पुरवाई’ में गज़ल के विषय में आपने महत्वपूर्ण लेख लिखे हैं। आप ‘पुरवाई’ के ‘खेल निराले हैं दुनिया में’ स्थाई-स्तम्भ के लेखक हैं. आपने
देश-विदेश के पनपे नए शायरों को कलम मांजने की कला सिखाई है। आपकी रचनाएँ युवा अवस्था से ही पंजाब के दैनिक पत्र, ‘वीर अर्जुन’ एवं ‘हिन्दी मिलाप’, ज्ञानपीठ की पत्रिका ‘नया ज्ञानोदय’ जैसी अनेक उच्चकोटि की पत्रिकाओं और अंतरजाल के विभिन्न वेब्स में प्रकाशित होती रही हैं। वे देश-विदेश के कवि सम्मेलनों, मुशायरों तथा आकाशवाणी कार्यक्रमों में भी भाग ले चुके हैं।

प्रकाशित रचनाएँ: ग़ज़ल कहता हूँ , सुराही (मुक्तक-संग्रह).
‘अभिव्यक्ति’ में प्रकाशित ‘उर्दू ग़ज़ल बनाम हिंदी ग़ज़ल’ और साहित्य शिल्पी पर ‘ग़ज़ल: शिल्प और संरचना’ के १० लेख हिंदी और उर्दू ग़ज़ल लिखने वालों के लिए नायाब हीरे हैं.

सम्मान और पुरस्कार: १९६१ में भाषा विभाग, पटियाला द्वारा आयोजित टैगोर निबंध प्रतियोगिता में द्वितीय पुरस्कार. १९८२ में कादम्बिनी द्वारा आयोजित अंतर्राष्ट्रीय कहानी प्रतियोगिता में सांत्वना पुरस्कार. १९८६ में ईस्ट मिडलैंड आर्ट्स, लेस्टर द्वारा आयोजित कहानी प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार.
२००६ में हिन्दी समिति, लन्दन द्वारा सम्मानित.

Advertisements

3 Comments »

  1. 1
    राजेन्द्र स्वर्णकार Says:

    आदरणीय प्राणजी
    नमस्कार !
    ब्लॉग – संसार में मेरे प्रवेश को दो माह ही हुए हैं ।
    गुणी रचनाधर्मियों की तलाश की तो
    कुछ अन्य रचनाकारों सहित आदरणीय महावीरजी और आप मिले ।
    ‘अभिव्यक्ति’ में प्रकाशित ‘उर्दू ग़ज़ल बनाम हिंदी ग़ज़ल’
    और
    साहित्य शिल्पी पर ‘ग़ज़ल: शिल्प और संरचना’ के लेख भी देखे हैं ।

    शीघ्र ही मेरा ब्लॉग भी आने को है ।
    कृपया , संपर्क में रखें ।

    नेट पर अब तक मैं मात्र यहां हूं —

    http://subeerin.blogspot.com/2010/02/blog-post_25.html
    ——————————————————–
    http://negchar.blogspot.com/2010/03/blog-post_06.html
    ——————————————————–
    http://rajasthanirandhan.blogspot.com/
    ——————————————————
    http://aakharkalash.blogspot.com/search?updated-
    max=2010-03-05T07%3A22%3A00-08%3A00&max-results=5
    ——————————————————
    http://cmindia.blogspot.com/श्रेष्ठ सृजन प्रतियोगिता अंक- 6 का परिणाम
    ——————————————————–
    शुभकामनाओं सहित – राजेन्द्र स्वर्णकार

    राजेन्द्र स्वर्णकार
    गिराणी सोनारों का मोहल्ला ,
    बीकानेर ३३४००१ राजस्थान
    mob – 9314682626
    phon – 0151 2203369
    Email :-swarnkarrajendra@gmail.com

  2. 2
    राजेन्द्र स्वर्णकार Says:

    राजेन्द्र स्वर्णकार

  3. apki dono laghukathaon mein tazgi hai.
    apko badhai.
    to read my laghukathayein kindly visit my website


RSS Feed for this entry

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: